मूल उत्पाद

अपक्षयी चक्रिका रोग के उपचा

 स्वस्थ जोड़ों के लिए होंड्रोक्रीम : तंदुरुस्ती के साथ जिएं!

मांसपेशीय कंकाल तंत्र के रोगों में कशेरुकी दंडों और जोड़ों के रोग प्रमुख हैं।  अपक्षयी चक्रिका रोग, गठिया, आथ्रोसिस- इस सभी रोगों में जोड़ों और पेशीय ऊतकों में तेज दर्द होता है। कभी-कभी दर्द इतना तीव्र होता है कि व्यक्ति अपने दैनिक दिनचर्या के काम भी नहीं कर सकता है और नियमित शारीरिक क्रियाकलापों को छोड़ना पड़ता है।

जोड़ों के रोगों के कारण मरीज के जीवन की गुणवत्ता में गिरावट आ जाती है। कुछ मामलों में दर्द सिंड्रोम को केवल सूजनरोधी प्रभाव वाले हार्मोनल स्टेरायडल के जरिये ही नियंत्रित करना संभव हो पाता है, लेकिन ऐसी दवाओं के बहुत से विरोधी लक्षण होते हैं और दवा का साइड इफेक्ट (उपास्थि के ऊतकों की टूट-फूट तक) भी होता है। मांसपेशीय कंकाल तंत्र की बीमारियों के सुरक्षित और प्रभावी उपचार के लिए  चिकित्सक भरोसेमंद समाधान की सलाह देते हैं। ऐसा ही एक समाधान होंड्रोक्रीम है।


बिना दर्द के जीवना।

पीठ के निचले हिस्से, पीठ और गर्दन की दर्द से पीड़ित व्यक्ति अपना सामान्य जीवन नहीं जी पाते हैं। कभी-कभी बीमारी इतनी बढ़ जाती है कि जोड़ों की हिल-डुल लगभग पूर्णत: बंद हो जाती है।  परिणामस्वरूप मरीज को अधिकांश समय बैठ कर  या लेट कर ही गुजारना पड़ता है। क्रियाकलाप के अभाव में पेशीय ऊतक क्षीण होने लगते हैं जिससे प्रत्यावर्तन होने लगता है और इस कारण उपास्थि और संयोजी ऊतक विकृत होने लगते हैं ।

जोड़ों के दर्द के लिए होंड्रोक्रीम तत्काल सूजन को दूर करता है, दर्द को नियंत्रित करता है, उपास्थि का विकृति से बचाव और जोड़ों की हिल-डुल को पुनर्जीवित करता है। यह चिकित्सकीय उत्पाद ऐसे किसी भी मांसपेशीय कंकाल तंत्र की बीमारी में प्रभावी होता है जो चलने के दौरान दर्द या असहजता  के कारण अथवा संधि संपुट या संधि के निकट स्थानों में चिह्नित सूजन प्रक्रियाओं के कारण होती है।


लक्षण और उपयोग?

पीठ दर्द के लिए होंड्रोक्रीम का उपयोग अपक्षयी चक्रिका रोग, वात गठिया, गोनाथ्रोसिस और जोड़ों के अन्य दर्दों में भी उपयोग किया जा सकता है, और एक सशक्त टॉनिक तथा दहन-रोधी चिकित्सा उत्पाद के रूप में मांसपेशीय कंकाल तंत्र की बीमारी के निदान की जटिल चिकित्सा का भी हिस्सा है।

क्रीम प्रभावी रूप से अस्थि गांठ में दर्द की अनुभूति को नियंत्रित करता है- जो सबसे गंभीर, दर्दनाक और दुर्दम्य निदानों में से एक है। होंड्रोक्रीम के बारे में मरीजों का प्रशंसापत्र भारत में पुष्टि करता है कि दवा न केवल प्रभावी रूप से जोड़ों के दर्द को नियंत्रित करती है बल्कि मांसपेशियों की चोट और मोच के कारण उभरे दर्द के लक्षणों के संदर्भ में भी प्रभावी है। मेडिकल चिकित्सकों  के अनुसार सामान्यत:  निम्न लक्षणों के प्रदर्शित होने पर दवा का उपयोग करना चाहिए : 


100% प्राकृतिक दवा

होंड्रोक्रीम की संरचना पूर्णत: प्राकृतिक होती है और किसी भी ऐसे नुकसानदेह कृृत्रिम योज्य से युक्त नहीं होती है जो आंतरिक अंगों के क्रियाकलाप पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकें। क्रीम की निर्माण प्रक्रिया में आवश्यक तेल, वनस्पतियों के अर्क और कार्बनिक प्रकृति की अन्य सामग्रियों का उपयोग किया जाता है।

चिकित्सकीय घटक संरचना

कार्य

लाल मिर्च, कपूर,  तारपीन।

रक्त-नाड़ी तंत्र पर शक्तिशाली उत्तेजक प्रभाव उत्पन्न करता है, प्रभावित जोड़ों को गर्म करता है, दर्द के दौरों को नियंत्रित करता है

देवदार का कांटा और नीलगिरि (तेल)

सूजन प्रक्रियाओं को रोकता है, क्षतिग्रस्त ऊतकों को पुनर्स्थापित करता है, प्रभावित क्षेत्रों को विसंक्रमित करता है, और उग्र रोगों से बचाता है।

हॉर्स चेस्टनट

संयोजी ऊतकों में विकृति बदलावों को रोकता है, उपास्थि और मांसपेशीय ऊतकों को मजबूत करता है।

मेंथॉल और पुदीना (तेल)

जोड़ों के हिल-डुल को पुनर्स्थापित करता है, गत्यात्मक क्रियाकलाप को सुधारता है और रक्त प्रवाह को उद्दीप्त करता है।  शीतलन प्रभाव मेगलगिया से तुरंत छुटकारा पाने में मदद करता है।

सभी चिकित्सा उत्पाद घटकों में हानिकारक सामग्रियों की सावधानीपूर्वक जांच की जाती है और इसी कारण क्रीम में प्रत्यक्ष हाइपोएलर्जिक गुण होते हैं और पूर्वप्रवृत्त एलर्जी या संवेदनशील त्वचा वाले मरीजों के उपचार के लिए उपयोग किये जा सकते हैं।


कैसे उपयोग करें?

भारत में होंड्रोक्रीम का मैनुअल विस्तार से बताता है कि अधिकतम चिकित्सा प्रभाव को प्राप्त करने के लिए दवा को कैसे लगाते हैं। निर्माता दवा को 14 दिनों तक दिन में 1-2 बार उपयोग करने की सलाह देते हैं ।  उस अवधि के बाद दर्द को नियंत्रित करने के लिए या एक रोग निवारक  देखभाल के लिए दवा का उपयोग दिन में एक बार किया जा सकता है।  क्रीम लगाने से पहले प्रभावित क्षेत्र की त्वचा से किसी भी प्रकार की गंदगी को साफ कर देना आवश्यक है।  उसे साफ करने के बाद त्वचा पर थोड़ा सा क्रीम लगा कर 5-7 मिनट तक मालिश करें।  त्वचा पर 60 मिनट तक क्रीम को बनाये रखना आवश्यक है और फिर उपचारित जगह को गर्म पानी से सावधानीपूर्वक साफ कर लें।

भारत में मेडिकल चिकित्सक और मरीज का प्रशंसापत्र पुष्टि करता है कि दर्द से छुटकारा पाने और किसी भी उम्र में  जोड़ों के हिल-डुल को पुन पुनर्स्थापित  करने के लिए कोर्स उपचार पर्याप्त है।


कहां से खरीदें?

इंटरनेट पर असली दवा के ब्रांड नाम पर बहुत से नकली उत्पादों की बाढ़ है। ऐसी नकली दवा के उपयोग से उपचार मरीज की स्थिति को और बिगाड़ सकती है और मरीज के स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव पड़ सकता है। भारत में असली चिकित्सा उत्पाद की खरीद केवल आधिकारिक वेबसाइट पर ही संभव है जिसका लिंक नीचे दिया गया है।

ग्राहक प्रशंसापत्र

 

अन्ना, 45

 

चिकित्सक की राय

50% छूट!

आज केवल! खरीदने के लिए क्रीम
Hondrocream के लिए आधी कीमत!